1548741314-new  9.jpg

1Booti Amla Churn


99

99 product left

SKU: BAC.

Categories: HAIR MEN , SKIN , WOMEN

Tag:

आंवला चूर्ण से होने वाले लाभ 1. मेटाबोलिज्म आंवला मेटाबोलिक क्रियाशीलता को बढाता हैं। मेटाबोलिज्म क्रियाशीलता से हमारा शरीर स्वस्थ और सुखी होता हैं। आवला भोजन को पचाने में बहुत मददगार साबित होता हैं खाने में अगर प्रतिदिन आवले की चटनी, मुरब्बा, अचार, रस, चूर्ण या चवनप्रास कैसे भी रोजमरा की जिन्दगी में शामिल करना चाहिए। इससे कब्ज की शिकायत दूर होती हैं पेट हल्का रहता हैं। रक्त की मात्रा में बढ़ोतरी होती हैं। खट्टे ढकार आना, गैस का बनाना, भोजन का न पचना, इत्यादि में 5 ग्राम आवला चूर्ण को पानी में भिगों कर सुबह शाम खाएं इससे अम्लीय पित्त के बुरे प्रभाव से छुटकारा मिलता हैं। 2. डायबिटीज आवला में क्रोमियम तत्व पाया जाता हैं जो डायबिटिक के उपयोगी होता हैं। आवला इंसुलिन होरमोंस को को सुदृढ़ करता हैं और खून में सुगर की मात्रा को नियंत्रित करता हैं। क्रोमियम बीटा ब्लॉकर के प्रभाव को कम करता हैं, जो की ह्रदय के लिए अच्छा होता हैं ह्रदय को स्वस्थ बनाता हैं।आवला खराब कोलेस्ट्रोल को ख़त्म कर अच्छे कोलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता हैं। डायबिटिक आंवले को चूर्ण, जूस या किसी न किसी रूप में अपनी दिनचर्या में शामिल करें। 3. पीरियड्स प्रॉब्लम महिलाओं में पीरियड्स संबन्धी पीरियड्स देर से आना, ज्यादा ब्लीडिंग होना, जल्दी जल्दी पीरियड्स आना, कम आना, पेट में दर्द का होने जैसी कई समस्यां होती रहती हैं। इसलिए उन महिलाओं को यह जानना काफी जरूरी है कि अब चिंता ना करें क्योंकि आंवला के सेवन से वे इन तकलीफों से राहत पा सकती हैं। दरसल आवला में मिनिरल्स, विटामिन्स पाया जाता हैं जो महावारी में बहुत आराम दिलाता हैं इसलिए नियमित रूप से आप आंवला और खासकर चूर्ण का सेवन करना शुरू कर दें इससे आपको महावारी की समस्याओ से छुटकारा मिल जाएगा। 4. प्रजनन समस्या आंवला प्रजनन के लिए बहुत ही उत्तम हैं महिलाओ और पुरुषो के लिए आंवला के सेवन से पुरुषो में शुक्राणु की क्रियाशीलता और मात्रा बढती हैं और महिलाओं में अंडाणु अच्छे और स्वस्थ बनते हैं साथ ही माहवारी नियमित हो जाती हैं। इस तरह दोनों को ही अपनी प्रजनन क्षमता में सुधार और दोषमुक्त करने के लिए नियमित आंवला चूर्ण का सेवन करना चाहिए। 5. हड्डियों की मजबूती आंवला के सेवन से हड्डियाँ मजबूत और ताकत मिलती हैं। आंवला के सेवन से ओस्ट्रोपोरोसिस और आर्थराइटिस एवं जोरो के दर्द में भी आराम दिलाती हैं। इए रोजाना आंवला चूर्ण खाने की आदत डालें। 6. तनाव से मुक्ति आमला खाने से तनाव में आराम मिलता हैं अच्छी नींद आती हैं। आवला के तेल को बालों के जड़ों में लगाया जाये तो कलर ब्लाइंडनेस से छुटकारा मिलता हैं।सर को ठडा रखता हैं।और राहत देता हैं। इसलिए अपनी दिनचर्या में आंवला चूर्ण को स्थान दें। 7. हार्ट प्रॉब्लम आवला हमारे ह्रदय के मांसपेशियों के लिए उत्तम होता हैं। आमला हमारे ह्रदय को स्वस्थ बनाने में कारगर हैं।आमला ह्रदय की नालिकाओ में होने वाली रुकावट को ख़त्म करता हैं।खराब कलेस्ट्रोल को ख़त्म कर अच्छे कलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता हैं।।आवला में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। जो शरीर में फ्री रेडिकल को बनाने ही नहीं देता।एंटी ऑक्सीडेंट के रूप में एमिनो एसिड और पेक्टिन पाए जाते हैं।जो की कलेस्ट्रोल को नहीं बनाने देता हैं और ह्रदय की मांशपेशियों को मजबूती देता हैं।आवला का रस या चूर्ण रोजाना ग्रहण करना काफी फायदेमंद है। 8. आँखों आंवला का चूर्ण आँखों के लिए बहुत फायदेमंद हैं। आंवला आँखों की दृष्टी को या ज्योति को बढाता हैं। मोतियाबिंद में, कलर ब्लाइंडनेस, रतोंधी या कम दिखाई पड़ता हो तो भी आंवला का सेवन किसी भी रूप में करें लाभ होगा। आखों के दर्द में भी काफी फायदा होता हैं। 9. संक्रमण से सेफ्टी आंवला में बक्टेरिया और फंगस से लड़ने की क्षमता होती हैं और ये बाहरी बीमारियों से भी हमें बचाती हैं। आंवला शरीर को पुष्ट कर उसे रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाती हैं, और टोक्सिन को यानी विषाक्त प्रदार्थ को हमारे शरीर से निकाल देती हैं। आंवला अल्सर, अल्सरेटिव, कोलेटीस, पेट में संक्रमण, जैसे विकार को खत्म करता हैं। आंवला का रस या पाउडर रोजाना लेने से बहुत फायदा होता हैं। 10. वजन घटाए आंवला के रस का सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती हैं। आंवला हमारे मेटाबोलिज्म को तेज कर वजन कम करने में मदद करती हैं। आंवला के सेवन से भूख कम लगती हैं और काफी देर तक पेट भरा हुआ रहता हैं। 11. नकसीर अगर किसी को नकसीर की तकलीफ हैं तो उन्हें आवला का सेवन करते रहना चाहिए। रोजाना एक चम्मच आंवला पाउडर को पानी में मिलाकर पीने से नाक से खून आने की आदत से आराम मिलता है। 12. उग्रता व उत्तेजना से आराम आंवला के सेवन से हमेशा आने वाले उत्तेजना से शांति मिलती हैं, अचानक से पसीना आना, गर्मी लगना, धातु के रोग, प्रमेय, प्रदर, बार बार कामुक विचार का आना इत्यादि चीजों से आराम दिलाता हैं।इसलिए रोज आंवला चूर्ण की खुराक लें। 13. उल्टी या वमन से राहत आंवला का पाउडर और शहद का सेवन करें या आवला के रस में मिश्री मिलाकर सेवन करने से उल्टियों का आना बंद हो जाता हैं। 14. रोग प्रतिरोध आंवले में एंटी ओक्सिडेंट होते हैं जो शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाता है और ये मौसम में होने वाले बदलाव के कारण होने वाले वाइरल संक्रमण से भी बचाता है। इसलिए आंवला चूर्ण का भरपूर सेवन करें।
आंवला चूर्ण से होने वाले लाभ 1. मेटाबोलिज्म आंवला मेटाबोलिक क्रियाशीलता को बढाता हैं। मेटाबोलिज्म क्रियाशीलता से हमारा शरीर स्वस्थ और सुखी होता हैं। आवला भोजन को पचाने में बहुत मददगार साबित होता हैं खाने में अगर प्रतिदिन आवले की चटनी, मुरब्बा, अचार, रस, चूर्ण या चवनप्रास कैसे भी रोजमरा की जिन्दगी में शामिल करना चाहिए। इससे कब्ज की शिकायत दूर होती हैं पेट हल्का रहता हैं। रक्त की मात्रा में बढ़ोतरी होती हैं। खट्टे ढकार आना, गैस का बनाना, भोजन का न पचना, इत्यादि में 5 ग्राम आवला चूर्ण को पानी में भिगों कर सुबह शाम खाएं इससे अम्लीय पित्त के बुरे प्रभाव से छुटकारा मिलता हैं। 2. डायबिटीज आवला में क्रोमियम तत्व पाया जाता हैं जो डायबिटिक के उपयोगी होता हैं। आवला इंसुलिन होरमोंस को को सुदृढ़ करता हैं और खून में सुगर की मात्रा को नियंत्रित करता हैं। क्रोमियम बीटा ब्लॉकर के प्रभाव को कम करता हैं, जो की ह्रदय के लिए अच्छा होता हैं ह्रदय को स्वस्थ बनाता हैं।आवला खराब कोलेस्ट्रोल को ख़त्म कर अच्छे कोलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता हैं। डायबिटिक आंवले को चूर्ण, जूस या किसी न किसी रूप में अपनी दिनचर्या में शामिल करें। 3. पीरियड्स प्रॉब्लम महिलाओं में पीरियड्स संबन्धी पीरियड्स देर से आना, ज्यादा ब्लीडिंग होना, जल्दी जल्दी पीरियड्स आना, कम आना, पेट में दर्द का होने जैसी कई समस्यां होती रहती हैं। इसलिए उन महिलाओं को यह जानना काफी जरूरी है कि अब चिंता ना करें क्योंकि आंवला के सेवन से वे इन तकलीफों से राहत पा सकती हैं। दरसल आवला में मिनिरल्स, विटामिन्स पाया जाता हैं जो महावारी में बहुत आराम दिलाता हैं इसलिए नियमित रूप से आप आंवला और खासकर चूर्ण का सेवन करना शुरू कर दें इससे आपको महावारी की समस्याओ से छुटकारा मिल जाएगा। 4. प्रजनन समस्या आंवला प्रजनन के लिए बहुत ही उत्तम हैं महिलाओ और पुरुषो के लिए आंवला के सेवन से पुरुषो में शुक्राणु की क्रियाशीलता और मात्रा बढती हैं और महिलाओं में अंडाणु अच्छे और स्वस्थ बनते हैं साथ ही माहवारी नियमित हो जाती हैं। इस तरह दोनों को ही अपनी प्रजनन क्षमता में सुधार और दोषमुक्त करने के लिए नियमित आंवला चूर्ण का सेवन करना चाहिए। 5. हड्डियों की मजबूती आंवला के सेवन से हड्डियाँ मजबूत और ताकत मिलती हैं। आंवला के सेवन से ओस्ट्रोपोरोसिस और आर्थराइटिस एवं जोरो के दर्द में भी आराम दिलाती हैं। इए रोजाना आंवला चूर्ण खाने की आदत डालें। 6. तनाव से मुक्ति आमला खाने से तनाव में आराम मिलता हैं अच्छी नींद आती हैं। आवला के तेल को बालों के जड़ों में लगाया जाये तो कलर ब्लाइंडनेस से छुटकारा मिलता हैं।सर को ठडा रखता हैं।और राहत देता हैं। इसलिए अपनी दिनचर्या में आंवला चूर्ण को स्थान दें। 7. हार्ट प्रॉब्लम आवला हमारे ह्रदय के मांसपेशियों के लिए उत्तम होता हैं। आमला हमारे ह्रदय को स्वस्थ बनाने में कारगर हैं।आमला ह्रदय की नालिकाओ में होने वाली रुकावट को ख़त्म करता हैं।खराब कलेस्ट्रोल को ख़त्म कर अच्छे कलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता हैं।।आवला में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता हैं। जो शरीर में फ्री रेडिकल को बनाने ही नहीं देता।एंटी ऑक्सीडेंट के रूप में एमिनो एसिड और पेक्टिन पाए जाते हैं।जो की कलेस्ट्रोल को नहीं बनाने देता हैं और ह्रदय की मांशपेशियों को मजबूती देता हैं।आवला का रस या चूर्ण रोजाना ग्रहण करना काफी फायदेमंद है। 8. आँखों आंवला का चूर्ण आँखों के लिए बहुत फायदेमंद हैं। आंवला आँखों की दृष्टी को या ज्योति को बढाता हैं। मोतियाबिंद में, कलर ब्लाइंडनेस, रतोंधी या कम दिखाई पड़ता हो तो भी आंवला का सेवन किसी भी रूप में करें लाभ होगा। आखों के दर्द में भी काफी फायदा होता हैं। 9. संक्रमण से सेफ्टी आंवला में बक्टेरिया और फंगस से लड़ने की क्षमता होती हैं और ये बाहरी बीमारियों से भी हमें बचाती हैं। आंवला शरीर को पुष्ट कर उसे रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाती हैं, और टोक्सिन को यानी विषाक्त प्रदार्थ को हमारे शरीर से निकाल देती हैं। आंवला अल्सर, अल्सरेटिव, कोलेटीस, पेट में संक्रमण, जैसे विकार को खत्म करता हैं। आंवला का रस या पाउडर रोजाना लेने से बहुत फायदा होता हैं। 10. वजन घटाए आंवला के रस का सेवन करने से वजन कम करने में मदद मिलती हैं। आंवला हमारे मेटाबोलिज्म को तेज कर वजन कम करने में मदद करती हैं। आंवला के सेवन से भूख कम लगती हैं और काफी देर तक पेट भरा हुआ रहता हैं। 11. नकसीर अगर किसी को नकसीर की तकलीफ हैं तो उन्हें आवला का सेवन करते रहना चाहिए। रोजाना एक चम्मच आंवला पाउडर को पानी में मिलाकर पीने से नाक से खून आने की आदत से आराम मिलता है। 12. उग्रता व उत्तेजना से आराम आंवला के सेवन से हमेशा आने वाले उत्तेजना से शांति मिलती हैं, अचानक से पसीना आना, गर्मी लगना, धातु के रोग, प्रमेय, प्रदर, बार बार कामुक विचार का आना इत्यादि चीजों से आराम दिलाता हैं।इसलिए रोज आंवला चूर्ण की खुराक लें। 13. उल्टी या वमन से राहत आंवला का पाउडर और शहद का सेवन करें या आवला के रस में मिश्री मिलाकर सेवन करने से उल्टियों का आना बंद हो जाता हैं। 14. रोग प्रतिरोध आंवले में एंटी ओक्सिडेंट होते हैं जो शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढाता है और ये मौसम में होने वाले बदलाव के कारण होने वाले वाइरल संक्रमण से भी बचाता है। इसलिए आंवला चूर्ण का भरपूर सेवन करें।

Related Products