कई छोटे अध्ययनों से पता चला है कि नीम का तेल एक सुरक्षित और बहुत प्रभावी गर्भनिरोधक प्रतीत होता है , पहले और बाद सहवास (पहले और सेक्स के बाद)।

जिस तरह से यह अध्ययन में लागू किया गया था यह गर्भधारण रोकने में 100% प्रभावी था।

अध्ययन से पता चला है कि नीम तेल गर्भनिरोधक वास्तव में 30 सेकंड के भीतर योनि में शुक्राणु को मारता है और पांच घंटे के लिए सक्रिय रहता है।

एक स्नेहक के रूप में इसके अलावा नीम का तेल कृत्यों में, और यह भी योनि और यौन संचारित रोगों से कुछ सुरक्षा प्रदान कर सकता है।

• इस तेल से मालिश करने से विभिन्न प्रकार के चर्म रोग ठीक हो जाते हैं।
• इस तेल का दिया जलाने से मच्छर भाग जाते है और डेंगू , मलेरिया जैसे रोगों से बचाव होता है|
• इस तेल की 5-10 बूंदों को सोते समय दूध में डालकर पीने से ज़्यादा पसीना आने और जलन होने सम्बन्धी विकारों में बहुत फ़ायदा होता है।
• इस के 25 ग्राम तेल में थोडा सा कपूर मिलाकर रखें यह तेल फोडा-फुंसी, घाव आदि में उपयोग रहता है।
• गठिया की सूजन पर इस के तेल की मालिश करें।
• सबसे चमत्कारी उपयोग इस तेल को सर पर लगाने से गंजापन दूर हो जाता है और बाल भी नैचुरली काले हो जातें हैं.

नीम तेल के सौंदर्य लाभ

नीम का तेल बालों पर विरोधी कवक और विरोधी बैक्टीरियल के रूप में काम करता है। बालों के लिए इस नीम का तेल का साप्ताह मे एक बार प्रयोग करें। यह तेल गंध में कड़वा है। यह सिर से कवक और जीवाणु को निकाल देता है। अगर आपके सिर की त्वचा संवेदनशील है, तो नारियल तेल या बादाम के तेल के साथ नीम का तेल का उपयोग करे।
नीम का तेल एक्जिमा, दाद, सोरायसिस आदि त्वचा रोगों के इलाज मे मदद करता है। नीम के गुण, नीम के तेल में मौजूद विरोधी कवक और विरोधी बैक्टीरियल गुण त्वचा रोगों के इलाज के लिए मदद करता है, कुछ ही दिनों में परिणाम प्राप्त करने के लिए रोजाना नीम के तेल का उपयोग करें।
नीम से उपचार, नीम का तेल सिर से रूसी निकालने मे मदद करता है। 2-3 सप्ताह तक नीम का तेल का प्रयोग करे। यह तेल बालो को जड़ से मजबूत और घना बनाता है।
नीम के गुण में मुँहासे के लिए नीम का तेल सबसे अच्छा उपाय है। आप इच्छित परिणाम प्राप्त करने के लिए उंगली से मुँहासे पर नीम के तेल को लगाए। नीम का तेल भी काले धब्बे को कम करने मे सहायक है।
नीम का तेल का प्रयोग व्यापक रूप से शैंपू और तेल, साबुन जैसे कई सौंदर्य उत्पादों में उपयोग किया जाता है। नीम के तेल में मिश्रित सल्फर मुँहासे और सोरायसिस के इलाज नीम से उपचार के लिए मदद करता है। नीम का तेल एक्जिमा और खुजली से मुक्त त्वचा पाने के लिए मदद करता है।
नीम का तेल बालों के लिए अच्छा कंडीशनर के रूप में काम करता है। यदि आपके बाल घुंघराले है तो अपने बालों मे स्नान के पहले नीम का तेल लगाए जिससे बाल सीधे और चमकदार हो जाएगे।
कई मुंह के देखभाल करने वाले उत्पादों में नीम का तेल का इस्तेमाल नीम के गुण के कारण किया जाता है। नीम का तेल के एंटीसेप्टिक गुण मसूड़ों और दांत की देखभाल के लिए सहायक है।

बालों की देखभाल के लिए नीम का तेल

फ्रिज़ी बालों का उपचार : बालों में निरंतर हानिकारक रसायनों और सौन्दर्य उत्पादों का प्रयोग करने पर आपके सिर पर फ्रिज़ी और रूखे बाल पैदा हो जाते हैं। आप अब इस स्थिति का नीम के तेल से आसानी से उपचार कर सकते हैं। आप इस तेल को या तो सीधे अपने सिर पर लगा सकते हैं, या फिर इसकी कुछ बूंदों का मिश्रण अपने शैम्पू (shampoo) में भी कर सकते हैं। अगर आप नीम के तेल को शैम्पू के साथ मिश्रित कर रहे हैं तो ऐसा निरंतर अपने रोजाना प्रयोग में लाये जा रहे शैम्पू की मात्रा को निकालकर करें। इस तरह इस शैम्पू से बालों को धोने पर आप पाएँगे कि एक बालों के सूख जाने पर वे किस तरह चमकदार बन जाते हैं।
दोमुंहे बाल हटाएं : सीरम, फ्लैट आयरन या कर्लिंग आयरन (serums, flat-iron or curling iron) जैसे स्टाइलिंग (styling) उत्पादों के ज़्यादा प्रयोग से भी बाल रूखे और दोमुंहे हो सकते हैं। आप अब नीम के बीज के अंश निकालकर इन्हें अपने बालों की जड़ में लगा सकते हैं। आप अब नीम के तेल की मदद से बालों में गहरी मोइस्चराइज़िंग (moisturizing) भी प्राप्त कर सकते हैं। यह रूखे और क्षतिग्रस्त बालों की भी मरम्मत करता है तथा आपके बालों को मुलायम और संभालने लायक बनाता है।
जुओं का उपचार : जुएँ काफी छोटे कीड़े जैसे जीव होते हैं, जो आपके सिर की त्वचा पर पैदा होकर आपका खून पीते हैं। इनके सिर की त्वचा पर अतिरिक्त रूप से काटने पर घाव हो जाता है, जिससे एक व्यक्ति को काफी दर्द होता है। अतः अपने बालों और सिर को जुओं के प्रभाव से मुक्त रखना ही बेहतर विकल्प होता है। आप नीम के तेल का अपने बालों की जड़ों में प्रयोग करके जुओं को दूर रख सकते हैं। क्योंकि इस तेल की कोई एलर्जिक (allergic) प्रतिक्रिया नहीं होती, अतः आपकी सिर की त्वचा का प्रकार चाहे जो भी हो, आप इसे अपने सिर में लगा सकते हैं।
गंजापन दूर करता है नीम ऑल : अगर नीम आयल रात को सोतें वक़्त बालो में लगाया जाएं तो इस से बालो का गिरना कम हो जाता है अथवा गंजापन दूर होता है साथ हे इस से बाल भी काले और हेल्थी हो जातें हैं.

नीम के तेल के त्वचा पर फायदे

जब बात आपकी त्वचा की हो तो नीम का तेल काफी फायदेमंद साबित होता है। कई तरह के साबुन और अन्य सौन्दर्य उत्पादों में नीम के अंशों का काफी मात्रा में प्रयोग किया जाता है। आप नीम के तेल की मदद से रूखी और खुजलीदार त्वचा से भी छुटकारा पा सकते हैं।
एक्ने से राहत : बैक्टीरिया (Bacteria) की वजह से त्वचा पर काफी मात्रा में मुहांसे और एक्ने हो जाते हैं। नीम का तेल बैक्टीरिया को प्रभावी रूप से त्वचा की परतों से निकालता है, जिससे ये मुहांसे निकलना काफी कम हो जाते हैं। मुहान्सं का पहला चरण चेहरे के ऊपर आया लालपन है। क्योंकि नीम के तेल में उच्च मात्रा में फैटी एसिड (fatty acid) भी होते हैं, अतः इसके निरंतर प्रयोग से चेहरे से दाग और घाव के निशान दूर हो जाते हैं।
फंगल संक्रमण का उपचार : हममें से ज़्यादातर लोग फंगल संक्रमण का शिकार होते हैं, जो उनकी त्वचा के ऊपर धब्बों के रूप में दिखता रहता है। नीम एक शक्तिशाली एंटी फंगल तत्व है जो बाज़ार में मिलने वाले अन्य सौन्दर्य उत्पादों के मुकाबले आपकी त्वचा के लिए कहीं अच्छा है। आप अब अपनी त्वचा के उस भाग पर नीम का तेल लगा सकते हैं, जहां आपको फंगल संक्रमण की शिकायत है। यह बात भी साबित हो चुकी है कि नीम का तेल 14 अलग अलग तरह के फंगस का उपचार कर सकता है।

उम्र के निशानों से लड़े :

उम्र बढ़ना एक ऐसी प्रक्रिया है, ज्सिके शिकार हम सभी होते हैं ,परन्तु कोई भी समय से पहले बूढ़ा नहीं होना चाहता। नीम के तेल के प्रयोग से आपके उम्र के निशानों के लक्षण कम और देरी से आते हैं। कि बार जीवनशैली में परिवर्तन की वजह से भी लोग समय से पहले ही उम्रदराज दिखने लगते हैं। आप त्वचा पर नहाने से पहले 10 मिनट तक नीम के तेल की मालिश कर लें और बाद में इसे गर्म पानी से धो लें। आप इसका प्रयोग रात को सोने से पहले भी कर सकते हैं, जिससे इसका प्रभाव रातभर बना रहे। नीम के तेल के प्रयोग से आप जवान और खूबसूरत दिख सकते हैं।

Weight

250ML * 4 bottles

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Dr. Nuskhe Neem Oil (250 ml)”