यह बीमारी प्रमुख रूप से गलत खान पान भोजन में चिकने पदार्थ तथा मेदा अदि की अधिकता, भोजन में रेशेदार पदार्थो की कमी, अधिक मिर्च का सेवन, कब्ज बने रहना, जोर लगा कर मल त्याग करना, रात्रि भोजन करके तुरंत सो जाना अदि कारणों से हो जाता है इस रोग में रोगी अपनी तकलीफ जूते हुए किसी को बताता भी नहीं है अतः यह किट ऐसे महानुभावों के लिए वरदान सरीखा है इस किट में चार औषधियाँ दी गई है जिनका प्रयोग निमानुसार करने से पूर्ण लाभ प्राप्त होता है
प्र्योग विधि:
(1) प्रथम दिन जुलाफेक्स २ गोली रात्रि सोते समय गुनगुने पानी के साथ ले
(2) त्रिफला पंचकोल प्राश १ चम्मच प्रीतिदिन दिन के भोजन के बाद ठन्डे पानी से व रात्रि सोते समय गुनगुने पानी से ले
(3) दुसरे दिन से पाइलोरेस्ट टेबलेट २-२ गोली प्रात: नाश्ते के बाद व रात्रि सोते समय गुनगुने पानी से ले
(4) पाइलोरेस्ट मलहम को मस्सो पर लगये, फिशर वाले-मलहम को गुदा में उंगुली से लगाए